टेस्ला कर रहा है भारत में आने की तैयारी

टेस्ला कर रहा है भारत में आने की तैयारी

भारत में इलेक्ट्रॉनिक कारों की डिमांड हो रही है. भारत ऑटोमोबाइल के लिए एक अच्छा बाजार माना जाता है. और कारण है कि धीरे-धीरे विदेशी कंपनियां भारत में अपने ऑटोमोबाइल कंपनियों को ला रही है. ऐसे में एक और ऑटोमोबाइल कंपनी का नाम सामने आ रहा है. टेस्ला जो अपनी इलेक्ट्रिक कारों के लिए दुनियाभर में मशहूर है. टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने पुष्टि की है कि उनकी कंपनी भारतीय बाजार में प्रवेश करने जा रही है.

इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली इस कंपनी ने हाल में भारत में अपनी इकाई टेस्ला इंडिया का पंजीकरण किया है. कंपनी इसी साल भारत में परिचालन शुरू कर सकती है. मस्क के एक ब्लॉग में विश्लेषण किया गया है कि भारी कीमतों के बावजूद टेस्ला कारों के लिए भारत एक प्रमुख बाजार के रूप में किस तरह विकसित हो सकता है. इस सप्ताह के प्रारंभ में पता चला था कि अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार विनिर्माता टेस्ला ने अपनी भारतीय इकाई का पंजीकरण किया है, और वह भारत के ऑटोमोबाइल बाजार में प्रवेश करने के लिए तैयार है.नियामकीय सूचना के अनुसार कंपनी ने टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड का बेंगलुरु स्थित कंपनियों के पंजीयक के पास पंजीकरण कराया है. कंपनी का पंजीकरण एक लाख रुपये की चुकता पूंजी के साथ एक असूचीबद्ध निजी संगठन के रूप में पंजीकरण किया गया है.

दी गई सूचना के अनुसार वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फिस्टीन को टेस्ला इंडिया का निदेशक नियुक्त किया गया है. खबरों के मुताबिक कंपनी भारत में अपनी विनिर्माण इकाई और अनुसंधान तथा विकास (आरएंडडी) केंद्र की स्थापना के लिए पांच राज्यों के साथ बातचीत कर रही है.पिछले महीने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि टेस्ला 2021 में देश में अपना परिचालन शुरू करने के लिए तैयार है और मांग के आधार पर एक विनिर्माण इकाई की स्थापना भी की जा सकती है. टेस्ला के संभावित साझेदारों के रूप में टाटा मोटर्स का नाम भी सामने आया था, हालांकि बाद में इस तरह की योजना से इनकार कर दिया. मस्क ने इससे पहले भी भारत

IMG-20210216-WA00451.jpg

Leave a comment

Please login to post comments
Login

0 Comments