डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए आरबीआई ने उठाया यह कदम

डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए आरबीआई ने उठाया यह कदम

डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने मोबाइल वॉलेट से केश विड्रॉल करने और मर्चेंट पेमेंट की अनुमति दी है। आने वाले समय में मोबाइल वॉलेट से पेमेंट के अलावा फंड ट्रांसफर और फंड रिसीव भी किया जा सकेगा। हालांकि अब कई लोगों के मन में सवाल है कि न तो उनके पास अकाउंट है और न ही वॉलेट कंपनियों के पास अपना ATM है। ऐसे में वे कैसे ATM में अपने वॉलेट से पैसे निकाल सकता है या किसी मर्चेंट को भुगतान कर सकेंगे।

एक पेमेंट कंपनी पेवर्ल्ड मनी के डायरेक्टर और चीफ ऑपरेटिंग ऑफिस प्रवीण धाभाई के अनुसार मोबाइल वॉलेट कंपनियां अपने ग्राहकों को प्रीपेड कार्ड जारी करेंगे। इस कार्ड का उपयोग करके कार्ड का उपयोग करते हुए वे एटीएम में पैसा निकाल सकते हैं और मर्चेंट स्टोर्स पर कार्ड स्वाइप कर सकते हैं। बता दें कि पेवर्ल्ड मनी के पास मोबाइल वॉलेट भी है।यह सुविधा उन्हीं लोगों को मिलेगी जिन्होंने KYC के सभी मानकों को पूरा किया है। पीपीआई को बैंक अकाउंट की तरह उपयोग में लेने से पहले KYC कराना होगा और उसमें सभी जरूरी डिटेल देनी होगी। एड्रेस प्रूफ का वेरीफिकेशन सबसे अहम होगा और वीडियो केवाईसी या इन-परसन वेरीफिकेशन के बाद ही यह सुविधा मिलेगी।

IMG-20210317-WA0023.jpg

Leave a comment

Please login to post comments
Login

0 Comments