जायफल और लाल बीन्स का सेवन सर्दियों में जानलेवा भी साबित हो सकते हैं, पढ़े कारण

जायफल और लाल बीन्स का सेवन सर्दियों में जानलेवा भी साबित हो सकते हैं, पढ़े कारण

आमतौर पर सर्दियों में लोगों की भूख अन्ये मौसम की तुलना ज्याबदा खुल जाती है। धारणा है कि सर्दियों में कुछ भी खाओं सब पच जाता है और स्वाजस्य्ड़  बेहतर हो जाता है। अगर आप इस भ्रम में जी रहे हैं, तो जायफल और लाल बीन्स यह धारणा तोड़ देगा। रिसर्च के मुताबिक यह दोनों चीज़ें आपको अस्पंताल का रास्ता दिखा सकती हैं और आपकी जान को भी ख़तरा भी पहुंचा सकती हैं।

विशेषज्ञ मानते हैं कि ठंड में शरीर में खास तरह के हार्मोंस बनते हैं, जो किसी भी तरह के खाने से पाचन तंत्र को बिगड़ने नहीं देते हैं। लेकिन, कुछ ऐसी चीज़ें भी हैं, जिनको खाने में बरती गई लापरवाही ख़तरनाक साबित हो सकती है। तमाम शोधों में यह बात सामने आ चुकी है कि लाल सोयाबीन स्वारस्य्से  के लिए ख़तरनाक भी हो सकती है। इसमें खास तरह की वसा की मात्रा अधिक होने के चलते इसे पचा पाना मुश्किल होता है।

ख़तरनाक भी हो सकता है लाल बीन्स :-

रिसर्च के मुताबिक क्योंकि बीन्स में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और खनिज की मात्रा अधिक होती है इसलिए इसे डाइट का अहम हिस्सा बनाया गया है। वहीं, लाल बीन्स में शरीर को फायदा पहुंचाने वाले इन सभी तत्वोंी के अलावा फैट की मात्रा बहुत अधिक होती है। इस फैट को आसानी से पचा पाना मुश्किल होता है। इसे खाने के लिए 12 घंटे तक पानी में रखने के बाद उबालना भी चाहिए। इसके बाद ही इसे खाया जा सकता है लेकिन मात्रा तब भी कम रखनी चाहिए।

जायफल भी बिगाड़ सकता है तबियत :-

इसी तरह इंडोनेशिया में भारी मात्रा में पैदा होने वाले जायफल की अधिक मात्रा किसी को भी बीमार बना सकती है। पेड़ों पर होने वाला यह फल आमतौर पर नॉनवेज खाने में इस्तेीमाल किया जाता है। लेकिन कई बार इसे आलू के अलावा भी कुछ रेसीपीज में इस्तेअमाल किया जाने लगा है। रिसर्चर मानते हैं कि इसकी थोड़ी सी भी ज्याफदा मात्रा पाचन तंत्र को खराब कर सकती है।

जायफल की ज्यानदा मात्रा का सेवन करने पर व्यीक्ति को उल्टियां और दस्तग शुरू हो जाते हैं। इसके अलावा सांस में दिक्कमत और सीने में दर्द भी होने लगता है। कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि इसकी ज्याादा मात्रा किसी भी व्येक्ति को पागल भी कर सकती है। बेहद गर्म होने के चलते मनुष्य। का माइंड न्यू्रोलॉजी सिस्टाम बिगड़ने लगता है और वह मानसिक संतुलन खो बैठता है।

नोट :- 

लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

IMG-20201118-WA00171.jpg

Leave a comment

Please login to post comments
Login

0 Comments