Breaking News :

टाटा और महिंद्रा एंड महिंद्रा ने दिखाई दरियादिली दिया कोरोना काल में अपने कर्मचारियों को बड़ी राहत

टाटा और महिंद्रा एंड महिंद्रा ने दिखाई दरियादिली दिया कोरोना काल में अपने कर्मचारियों को बड़ी राहत

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान मानवता की मिसाल पेश करते हुए देश की दो बड़ी कंपनियां टाटा और महिंद्रा एंड महिंद्रा ने दरियादिली का परिचय दिया है. संकट के इस दौर में जहां पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ा है, वहीं देश के ये दो कंपनियां अपने मातहत काम करने वाले कर्मचारियों के हरसंभव मदद करने के लिए हाथ आगे बढ़ाया है. टाटा ग्रुप की टाटा स्टील और टाटा मोटर्स के साथ महिंद्रा एंड महिंद्रा ने कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारियों के परिजनों को बहुत बड़ी राहत दी है. 
महामारी से देश में अब तक तीन लाख से अधिक लोगों की जान चली गई हैं. ऐसी भयावह स्थिति में टाटा ग्रुप की दो कंपनियों और महिंद्रा एंड महिंद्रा ने अपने कर्मचारियों और उनके परिजनों की भलाई के लिए कई कदम उठा रही हैं. टाटा ग्रुप की टाटा स्टील ऐलान किया है कि वह कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारियों के परिजनों को उनके  रिटायर होने की उम्र यानी 60 साल पूरा होने तक पूरा वेतन देगी.
कंपनी ने कहा है कि कर्मचारियों के आश्रितों को मिलने वाली राशि उनकी आखिरी वेतन के बराबर होगी. इसके साथ ही, उनके बच्चों की पढ़ाई, चिकित्सा सुविधा और आवास की सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी. इसके अलावा, टाटा स्टील ने यह भी कहा है कि कंपनी अपने सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स की ड्यूटी के दौरान जान गंवाने पर उनके बच्चों की देश में ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई का पूरा खर्चा उठाएगी.वही महिंद्रा एंड महिंद्रा ने भी कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारियों के आश्रित परिजनों को पांच साल तक वेतन देते रहने का ऐलान किया है. इसके साथ ही, कंपनी ने यह भी कहा है कि वह सालाना आय की दोगुनी रकम एक ही बार में भुगतान करेगी. इसके अलावा, कंपनी कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारियों के बच्चों की 12वीं तक पढ़ाई के लिए हर साल एक बच्चों को दो लाख रुपये का सहयोग प्रदान करेगी.

Related News

IMG-20210317-WA0023.jpg

Leave a comment

Please login to post comments
Login

0 Comments