Breaking News :

भारत के मिसाइल मैन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के जन्म दिवस पर मनाया जाता है विश्व छात्र दिवस

भारत के मिसाइल मैन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के जन्म दिवस पर मनाया जाता है विश्व छात्र दिवस

आज विश्व छात्र दिवस यानि वर्ल्ड स्टूडेंट्स डे है। भारत के मिसाइल मैन के नाम से विख्यात और पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम के जन्म-दिवस 15 अक्टूबर को विश्व छात्र दिवस के तौर पर मनाया जाता है। वर्ष 2010 में संयुक्त राष्ट्र ने डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम के 79वें जन्म-दिवस को विश्व छात्र दिवस के तौर पर मनाये जाने की घोषणी की थी। तभी से आज के दिन, 15 अक्टूबर को पूरे विश्व में ‘वर्ल्ड स्टूडेंट्स डे’ के तौर पर मनाया जाता है।

डॉ. कलाम वर्ष 2002 से 2007 तक भारत के राष्ट्रपति रहे और वे भारत के 11वें राष्ट्रपति थे। साथ ही, वे विख्यात वैज्ञानिक, थिंकर, फिलॉस्फर और टीचर भी थे और उन्हें विभिन्न प्रतिष्ठित पुरस्कार और सम्मान से नवाजा गया था।

डॉ. कलाम को अध्यापक से लगाव था और उनकी हमेशा रही कि लोग उन्हें हमेशा एक अध्यापक के रूप में जानें। डॉ. कलाम को ‘पीपल्स प्रेसीडेंट’ के तौर पर भी जाना जाता है।

विश्व छात्र दिवस 2020: थीम

आज, 15 अक्टूबर को डॉ. कलाम के 89वें जन्म-दिवस के अवसर पर विश्व छात्र दिवस 2020 का थीम ‘लर्निंग फॉर पीपल, प्लैनेट, प्रॉस्पेरिटी एण्ड पीस’ घोषित किया गया है।

विश्व छात्र दिवस 2020: कोट्स

 वर्ष 2020 के विश्व छात्र दिवस के अवसर भारत के वर्तमान उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने डॉ. कलाम का एक प्रसिद्ध कथन साझा किया, "अगर सूरज की तरह चमकना है तो पहले सूरज की तरह तपना सीखो"। साथ ही, उप-राष्ट्रपति ने कहा, “देश के भूतपूर्व राष्ट्रपति, राष्ट्र के प्रबुद्ध विचार नायक, युवाओं के प्रेरणास्रोत और प्रख्यात वैज्ञानिक डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम जी की जन्म जयंती पर मनीषी विचारक के यश को सादर नमन करता हूं।“बता दें कि वर्ष 2005 में स्वीट्जरलैंड ने भी डॉ. कलाम के यूरोपीय देशों की यात्रा की याद में 26 मई को ‘साइंस डे’ के रुप में घोषित किया था।

Related News

sidebar-banner2.jpg

Leave a comment

Please login to post comments
Login

0 Comments