Breaking News :

वर्ल्ड बैंक के अनुसार स्कूलों के बंद होने से भारत में 400 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका 

वर्ल्ड बैंक के अनुसार स्कूलों के बंद होने से भारत में 400 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका 

विश्व बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार कोविड-19 के चलते लंबे समय तक स्कूल बंद रहने से भारत को 400 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक का नुकसान हो सकता है। वर्ल्ड बैंक की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इसके अलावा पढ़ाई को होने वाला नुकसान अलग है। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि मौजूदा हालात में दक्षिण एशियाई क्षेत्र में स्कूलों के बंद रहने से 62 अरब 20 करोड़ अमेरिकी डॉलर का नुकसान हो सकता है। अगर कोरोना संकट की वजह से बने हालात और अधिक निराशानजक रहे तो यह नुकसान 88 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच सकता है।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इस क्षेत्र में अधिक नुकसान भारत को ही उठाना पड़ सकता है. सभी देशों को अपने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का अच्छा खासा हिस्सा कोविड संकट की वजह से खोना पड़ेगा।

दक्षिण एशिया में अनौपचारिकता एवं कोविड-19 नाम की वर्ल्ड बैंक की इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दक्षिण एशिया क्षेत्र की अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के विनाशकारी प्रभाव के चलते साल 2020 में सबसे बुरी आर्थिक शिथिलता आने वाली है।

रिपोर्ट में कहा गया, "दक्षिण एशियाई देशों में कोरोना संकट की वजह से अस्थायी रूप से स्कूल बंद होने से छात्रों पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। इन देशों में प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों के 39.10 करोड़ छात्र स्कूलों से दूर हैं, जिससे शिक्षा के संकट से निपटने के प्रयास और अधिक मुश्किल हो सकते हैं।"

वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट के अनुसार कई देशों ने स्कूल बंद होने के प्रभाव को कम करने के लिये काफी कदम उठाए हैं, लेकिन बच्चों को डिजिटल माध्यम से पढ़ाई कराना काफी मुश्किल काम है। विश्व बैंक की रिपोर्ट में कहा गया है कि महामारी के चलते 55 लाख बच्चे पढ़ाई छोड़ सकते हैं, इससे पढ़ाई का अच्छा-खासा नुकसान होगा। इस संकट की वजह से एक पीढ़ी के छात्रों की दक्षता पर आजीवन प्रभाव पड़ेगा।

इस रिपोर्ट में कहा गया, "कोरोना संकट के सामने आने के बाद अधिकतर देशों में स्कूल मार्च में बंद कर दिये गए थे. अभी कुछ देशों में ही स्कूल खोले जा रहे हैं या खोले जा चुके हैं. बच्चे लगभग पांच महीने से स्कूल और पढ़ाई से दूर हैं। लंबे समय तक स्कूल से दूर रहने का मतलब है कि वे न केवल पढ़ना छोड़ देंगे, बल्कि जो उन्होंने पढ़ा है, वे उसे भी भूल जाएंगे।"

Related News

sidebar-banner2.jpg

Leave a comment

Please login to post comments
Login

0 Comments